रविवार, 8 नवंबर 2009

कुछ रंग जिंदगी के ये भी हैं ..


बदल गया है रात का रंग सुबह का रंग क्या होगा
बचपन अपना भूल गया जवानी का रंग क्या होगा

सिमट गए हैं सपने सभी एक फटी-पुरानी चादर में
रात की सोती सड़कों पर उन सपनो का रंग क्या होगा

वक्त कहीं गया नही फिर भी वक्त की कमी क्यूँ है आज
जिंदगी जी ली जैसे-तैसे अब मौत का रंग क्या होगा

हर पल हर वक्त एक नई कहानी जन्म लेती है यहाँ
जिंदगी जिससे लिखी गई उस सियाही का रंग क्या होगा

"अक्षय" गुमनामियों मे खो रहा है हर बात से अनजान
जो ढूंढ़ता रहा है मुझे हर वक्त उस आईने का रंग क्या होगा
अक्षय-मन

26 टिप्‍पणियां:

  1. bahut dinon baad nazar aaye ho Akshay,

    Aur bahut sundar likha hai...
    accha laga padhkar...
    khush raho..
    Didi..

    उत्तर देंहटाएं
  2. HAAN DIDI KAFI TIME SE VYAST THA KABHI TABIYAT KO LEKAR TO KABHI JIVAN KE UTAR CHADAV MAI AANE WALE BADLAAV KO LEKAR......SHUKRIYA DI.........

    उत्तर देंहटाएं
  3. Jaag uthengee sadke jab likhne lagoge isee tarah..bade dino baad tumhen padha...behtareen..kyon, kaise, itna dard itnee kam umr me samete hue ho?

    http://shamasansmaran.blogspot.com

    http://aajtakyahantak-thelightbyalonelypath.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  4. ye dard nahi maa ka pyar hai jo aapke roop mai mila.....
    aur mujhe himmat deta raha aapka akshay

    उत्तर देंहटाएं
  5. सुन्दर अभिव्यक्ति और अनुभूति

    उत्तर देंहटाएं
  6. hi,
    you've written really well.
    its life's real face, but i think it would be better if we would do something for those people who are living this kind of life.

    उत्तर देंहटाएं
  7. bahut aachi gazal kaphi waqt bad padi hai apki kalam se akshay
    kaise ho

    उत्तर देंहटाएं
  8. Akshay! Nice to see u after long time. Kahan they aap? Zindgi jisse likhi us syahi ka rang kya hoga .....bahut khoob & last one is also good.

    उत्तर देंहटाएं
  9. waqt ki kami kaha nahi ? har rang main dhalna aur har dhang main rang khojna hi jindgi hai...!

    उत्तर देंहटाएं
  10. raat ki soti sadko par un sapno ka rang kya hoga....!!
    bahooooooot sundar....!!!

    उत्तर देंहटाएं
  11. अक्षय जी अरसे बाद आपका आना सुखद लगा .....तबियत को क्या हुआ था ....!!

    और ये सपने क्यों सिमट गए ....?? ये फटी पुरानी चादर .....मौत का रंग ...नई कहानी .....गुमनामी ...क्या है ये सब .....???

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत सुन्दर भाव बधाई हो!
    अक्षय मन वही जो तन के तारों को ध्यान दिये बिना अनुभूति को इस कदर शब्दों से सजाता रहे
    रही बात छोटे होने की तो रस बिन्दू पर मैं अब कहाँ बच्चा हूँ पढिये http://rasbindu.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत दिनों के बाद आपका टिपण्णी मिलने पर मुझे बेहद खुशी हुई! अभी आपकी तबियत कैसी है? मैं भगवान से प्रार्थना करती हूँ कि आप हमेशा स्वस्थ रहें!
    मेरे इस ब्लॉग पर आपका स्वागत है -
    http://ek-jhalak-urmi-ki-kavitayen.blogspot.com
    बहुत ही सुंदर भाव और अभिव्यक्ति के साथ आपने शानदार रचना लिखा है! मुझे बेहद पसंद आया!

    उत्तर देंहटाएं
  14. mere blog par aane ka shukriya . aapka blog bahut achchha laga .. bahut sunder likhate hain aap .. aap ke achchhe swasthya ke liye shubh kaamnaayen .

    उत्तर देंहटाएं
  15. सरिता आँचल में झरने,
    अम्बुधि संगम लघु आशा।
    जीवन, जीवन- घन संचित,
    चिर मौन हो गई भाषा॥

    उत्तर देंहटाएं
  16. waah bhai kya khoob likha hai,
    zindagi ke rango ko wakai bikher kar rakh diya,, or wo bhi zindagi ke hi canvas pe...
    bahut khoob likhte raho...
    meet

    उत्तर देंहटाएं
  17. भावों से ओत-प्रोत, सुन्दर शब्द-चयन - एक सुंदर रचना है.
    महावीर शर्मा

    उत्तर देंहटाएं
  18. Akshay bahut dino baad aap ne blog shuru kiya hai.
    Aur bahut hi sundar aur arthpurn kavita likhi hai.

    [lekin is rachna mein negativity hai..jo thoda khatak rahi hai..
    kya jin dino tabiyat theek nahin thi..un dino likhi thi??

    -apna khyal rakhna.

    उत्तर देंहटाएं
  19. बदल गया है सुबह का रंग रात का रंग क्या होगा
    बचपन अपना भूल गया ज़वानी का रंग क्या होगा
    --अच्छे भाव।

    उत्तर देंहटाएं
  20. ्बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति--खूबसूरत शब्दों में।
    पूनम

    उत्तर देंहटाएं
  21. Akshay really good.....by the way who is your inspiration, really need to know :)

    उत्तर देंहटाएं
  22. aapka blog aapke vichaar khoob hen . mera blog akhtarkhanakela.blogspot.com he ho ske to dekhnaa akhtar khan akela kota rajasthan

    उत्तर देंहटाएं
  23. aapke vichaar lajwaab hai . mera blog sanjaybhaskar.blogspot.com he ho ske to dekhnaa


    Sanjay bhaskar

    उत्तर देंहटाएं